श्री राणी सती मंदिर Rani Sati Mandir

Introduction

श्री राणी सती मंदिर का निर्माण लगभग विक्रम संवत 1946 (ई संवत 1889) के आसपास स्वर्गिय सेठ श्री जयनारायण जालान द्वारा स्वर्गिय सेठ श्री दलसुख राय जी जालान द्वारा प्रदत्त भूमि पर किया गया था I स्वर्गिय सेठ श्री जयनारायण जालान द्वारा झुनझुनूं स्थित श्री राणी सती मंदिर से इंट अपने सर पर रख कर लाकर मंदिर के गर्भ गृह (मंडप) की स्थापना की गई थी. 125 वर्ष पुराने इस मंदिर का द्वितिय पुनरूद्धार विक्रम संवत 2003 (ई संवत 1946) मे हुआ था एवं वर्तमान स्वरूप का निर्माण विक्रम संवत 2071 (ई संवत 2014) को पूरा हुआ था I मंदिर मे दादीजी के विग्रह की स्थापना पहली बार इस दौरान की गई थी एवं 12 सतीयों के मॅंड एवं विग्रह की पहली बार स्थापना भी इसी दौरान की गई थी. सारे विग्रह दादीजी के झुनझुनूं मंदिर से श्री राजकुमार जालान ( पुत्र स्वर्गिय श्री साँवरमल जी जालान) द्वारा पूजा करवा कर लाकर यहाँ स्थापित किए गये हैंI